दिसंबर 14, 2018

सावधान। पूर्णियॉं में शैतान बन बैठे हैं भगवान

यदि आप अपने स्वास्थ्य लाभ के लिए पूर्णियॉं जा रहें हैं तो आपको सावधान और सजग रहने की जरूरत है। दिनांक 13/12/2018 को अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराने के लिए श्री पंकज कुमार पूर्णियॉं गये। चिकित्सक ने रक्त जॉंच का सलाह दिया तो सदर हॉस्पिटल के सामने चल रहे "आनंद डायग्नोस्टिक लैब" में उनका रक्त परीक्षण के लिए दिया गया। जब रिपोर्ट हम तक पहुँची तो वह यह थी-

रिपोर्ट देखते ही श्री कुमार ने तुरंत रिपोर्ट पर संदेह व्यक्त कर दिया। तत्काल पूर्णियॉं के सबसे प्रतिष्ठित लैब "मोर्या सेंट्रल डायग्नोस्टिक में उसी जॉंच के लिए खून का नमूना दिया गया। नमूना देते वक्त संध्या के लगभग 6.30 बज रहे थे, लैब ने हमें उस दिन रिपोर्ट देने में असमर्थता व्यक्त की। हम वापस आ गये।
आज रिपोर्ट इंटरनेट से डाउनलोड किया तो दोनों रिपोर्ट में जमीन आसमान का फर्क है।
मौर्या का रिपोर्ट यह रहा-
पहले रिपोर्ट में /दूसरी में
WBC 8400/7300
NEUTROPHIL 61/54
LYMPHOCYTE 35/22
EOSINOPHIL 02/23
MONOCYTE 02/01
BASOPHIL 00/00

एक ही मरीज, एक ही दिन और दो लैब की रिपोर्ट में इतना अंतर तो डॉक्टर क्या दवा लिखे?
क्या गलत रिपोर्ट देने वाले लैब पर कानूनी कार्रवाई की जाय?
हमें आपके सलाह का इंतजार रहेगा।






Call 2 us- 8448447719