जनवरी 21, 2019

बर्दाश्त नहीं की जायेगी मनमानी

नार्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड के कर्मचारी और पदाधिकारी अपनी मनमानी पर तुरंत लगाम लगा लें, वरना भारत स्वाभिमान के कार्यकर्ता अपने साथी के साथ होने वाले दुर्व्यवहार को बर्दाश्त नहीं करेगा।
जानकीनगर शक्ति उपकेन्द्र से बिजली आपूर्ति में मनमानी की जाती रही है। ग्रामीण क्षेत्र होने के बाबजूद शहरी दर पर बिल लेने के हमारे विरोध पर तो पहले तो यही कर्मचारी और पदाधिकारी भौंककर हमें डराना चाहा। कानून की बात करने लगे, शक्ति उपकेन्द्र में जाने पर फोटो खींचकर-विडियो बनाकर अनाधिकार प्रवेश पर मुकदमा दर्ज करने का षडयंत्र किया गया। हमने भी जब कानूनी फंदा कसना शुरू किया तो बिलबिलाकर बिजली की अवैध मनमानी कटौती कर जनता को हमारे खिलाफ भड़काने की पूरी कोशिश की। नाक रगड़ कर पुराने ग्रामीण दर पर बिल लेने लगे। लेकिन केवल अपनी मनमानी और लूट होते नहीं देख बिलबिलाहट में कोई कदम उठा देना इस कंपनी के कर्मचारीयों का शगल है तो हम भी पूरी जबाबदेही और जिम्मेदारी के साथ कहना चाहते हैं कि आप पदाधिकारी हैं, आपका सम्मान है। हम आपका हर सम्मान- सहयोग करते हैं तो यह मतलब नहीं हम आपसे डरते हैं। सम्मान और सहयोग देना हमारी संस्कृति है। आप अपने घर-परिवार को छोड़ हमारी सेवा में हैं और "अतिथि देवो भव:" हमारा धर्म वाक्य है। आप इस भ्रम से जितना जल्दी निकल जायें, उतना अच्छा है कि- हम जो करेंगें, वही होगा। होता वही है जो ईश्वर करता है, हम या आप नहीं। 
आपने कहा- हमने शहरी दर कर दिया, वही लगेगा- आज ग्रामीण दर कैसे लग रहा है?

आपने कहा- जानकीनगर ग्रामीण क्षेत्र हो गया, अब 16 घंटा ही बिजली मिलेगा। आज 18 घंटा कैसे मिल रहा है?
यदि थूककर चाटना किसी की आदत है, तो हम इसे अच्छी आदत नहीं कह सकते हैं। 
आज 21/01/2019 को हमारे वरिष्ठ सदस्य और जानकीनगर भाजपा मंडल मंत्री श्री गुंजन शर्मा बिजली आपूर्ति की स्थिति की जानकारी लेने जानकीनगर शक्ति उपकेन्द्र पहुचें थे। शक्ति उपकेन्द्र के कर्मचारीयों ने उनके साथ बदसलूकी की और विभागीय पदाधिकारी से इसकी शिकायत करने पर वे श्री शर्मा पर ही उपकेन्द्र में प्रवेश को गैरकानूनी बताते हुए मुकदमें की घमकी दी है।
पता नहीं बिजली विभाग के विभागीय कर्मचारी और पदाधिकारी अपने आपको कितना ऊँचा समझते हैं? जितना ऊँचा पर रहियेगा, गिरने पर उतना ही हड्डी-पसली टूटेगा! कानून कोई रखैल नहीं जिसका डर आप हमेशा दूसरे को दिखाते हैं!
अपने रजिस्टर में डिसकनेक्शन कर महीने बाद बिजली चोरी के मुकदमें लादकर शोषण करने के तरीके हर जगह लागू नहीं होते!   

हम सार्वजनिक रूप से विभागीय कर्मचारी और पदाधिकारी से मॉंग करते हैं, जिस प्रकार आपने गले पर हाथ डालने का प्रयास किया है, उसी प्रकार श्री शर्मा का पैर पकड़कर मॉंफी मांगें और इसकी पुनरावृत्ति किसी के साथ नहीं करने का वचन दें।
वरना....
श्री शर्मा जो चाहेंगें वही होगा....।
अन्याय को बर्दाश्त न किया है, न करेंगें- कानून पढ़ाने वाले को कानून पढ़ना सिखायेंगें।

Call 2 us- 8448447719